Barcode क्या होता है और कैसे काम करता है?

0
26

Barcode क्या होता है ?

बारकोड वर्तमान समय में खूब प्रचलित हो रहा है परंतु अभी भी कई सारे ऐसे लोग हैं जिनको बारकोड क्या है इसके बारे में जानकारी नहीं है यदि आपको भी इसके बारे में जानकारी चाहिए तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें। इस पोस्ट के अंदर हम आपको बारकोड से संबंधित हर वह जानकारी देंगे जो अत्यधिक आवश्यक है।

दोस्तों हम आपको यह विश्वास दिलाते हैं कि जब आप इस पूरे आर्टिकल को अंत तक पढ़ लेंगे तो आपको फिर कभी बारकोड के बारे में जानने की आवश्यकता नहीं पड़ने वाली है बस आप इस जानकारी को एक बार अंत तक अवश्य पढ़ें और हर बात पर ध्यान दें ताकि आपकी यह जानकारी अच्छी तरह से समझ में आ सके। हमने इस जानकारी के अंदर जहां तक हम से संभव हुआ है बहुत ही सरल शब्दों में जानकारी देने की कोशिश की है ताकि आप जैसे हमारे मित्रों को जानकारी को पढ़ते समय कोई भी परेशानी ना आए ।

तो चलिए दोस्तों अब हम आपको बारकोड के बारे में बताते हैं कि क्या होता है इसका और क्या अर्थ है, यह किस काम आता है और भी अन्य कुछ जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के अंदर देने वाले हैं । दोस्तों वैसे यदि मैं आपको अपना सीक्रेट बताऊं तो मुझे भी इसके बारे में पहले पता नहीं था लेकिन जब मुझे इसके बारे में पता चला तो मुझे भी काफी आश्चर्य हुआ। और मुझे लगा कि यह तो बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है।

फिर मुझे लगा कि मेरे जैसे कुछ लोग भी होंगे जिनको इसके बारे में पता नहीं होगा तो मैंने सोचा कि जब मुझे इसके बारे में हर चीज पता चल चुकी है तो क्यों ना मैं इसे उनके पास पहुंचाऊं जिनको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो इसी वजह से हम बारकोड के बारे में इस आर्टिकल के माध्यम से आपको संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

अतः आपको यह आर्टिकल ध्यान से पढ़ना है तभी आपकी अच्छी तरह से हर जानकारी समझ में आ पाएगी वरना तो आप जानते ही हैं। जैसे आप हमारे आर्टिकल को पड़ेंगे वैसे ही किसी दूसरे के आर्टिकल को पड़ेंगे पर यदि आपने ध्यान से नहीं पढ़ा तो समझना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है । तो हम यह चाहते हैं कि आप इसे ध्यान से पढ़ें ताकि इस आर्टिकल में ही आपकी जो भी बारकोड से संबंधित समस्या है वह हल हो जाए, उसका समाधान हो जाए। तो चलिए दोस्तों जानते हैं।

दोस्तों जहां तक मुझे लगता है कि आपने बारकोड के बारे में अवश्य सुना होगा या हो सकता है इसे देखा भी होगा। यह एक लंबी काली लाइन पैटर्न में होता है और इसका इस्तेमाल तुमने किसी कंपनी या फिर शॉपिंग मॉल अथवा दुकान में अधिक देखा होगा। जहां व्यक्ति सामग्री अर्थात प्रोडक्ट्स खरीदते हैं एवं कंपनी अपने प्रोडक्ट को बारकोड के माध्यम से ट्रैक करने एवं स्टॉक स्तर को सही ढंग से चेक करने के लिए बारकोड का इस्तेमाल करती है।

दोस्तों इसको आपने किसी इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद या फिर अन्य किसी प्रोडक्ट को खरीदते समय उसके पैकेट पर देखा होगा यह हमेशा पैकेट के बाहर की तरफ होता है यह आपको ज्यादातर काले रंग में मिलेगा परंतु कभी-कभी यह नीले रंग में भी होता है। इस पर 10 या फिर उससे अधिक लंबी लंबी काली या रंगीन लाइने होती हैं यही होता है बारकोड जिसमें उस प्रोडक्ट से संबंधित जानकारी एवं उसकी जो एक निश्चित कीमत होती है वह दर्ज होती है।

पर अभी भी कई लोग हैं जिन्होंने इस के रहस्य के बारे में जानने की कोशिश नहीं की है पर उन सब लोगों से मुझे आप थोड़े से अलग-अलग रहे हैं क्योंकि आपने इसके बारे में जानने की कोशिश की है। दोस्तों हम जानते हैं कि हर वस्तु का हर चीज का अपनी जगह पर एक विशेष महत्व होता है परंतु लोग उसे समझना नहीं चाहते हैं पर आपको ऐसा नहीं करना है आप कोई भी चीज हो या फिर ऐसी कोई बात जो जानने योग्य हो आप उसे अवश्य जानने का प्रयास करें। पर यहां मैं आपको इलेक्चर नहीं दे रहा बस आपको सच्चाई से अवगत करा रहा हूं। चलिए अब हम अपने मेन टॉपिक पर चलते हैं।

तो दोस्तों मैं आपको बारकोड के बारे में बता रहा था तो दोस्तों बारकोड में इलेक्ट्रॉनिक कोड होता है जिसे सिर्फ मशीन द्वारा ही पढ़ा जा सकता है तो इसका मतलब यह हुआ कि बारकोड एक मशीन रीडेबल अर्थात मशीन के द्वारा पढ़ने योग्य कोड है। जिसे हम नहीं पढ़ सकते हैं। मशीन के द्वारा इसे इसे ऑप्टिकल स्कैनर अर्थात प्रकाशीय स्केनर की मदद से पढ़ा जाता है। वर्तमान समय में बारकोड का प्रयोग अब अधिकतर प्रोडक्ट्स के पैकेट्स पर किया जा रहा है। बड़ी-बड़ी कंपनियां इसका इस्तेमाल कर रही हैं। दोस्तों इस के अधिक महत्व की वजह से हमारे लिए इसके बारे में जानना आवश्यक हो जाता है कि बार कोड क्या है और यह कैसे काम करता है एवं इसका इस्तेमाल कहां कहां किया जाता है तो आज हम आपको इस के ही बारे में बताने वाले हैं।

अभी जो हमने तुम्हें बताया है वह तो सिर्फ एक छोटा सा रूप है परंतु अब हम आपको इसके बारे में थोड़ा विस्तार से बताने वाले हैं।

बारकोड क्या है जाने सरल शब्दों में –

दोस्तों हम अपनी दैनिक चर्चा में अनेकों वस्तुओं का इस्तेमाल करते हैं या फिर यूं कहूं की अनेकों उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं । जैसे कि बिस्कुट, साबुन, तेल, क्रीम, नमक अथवा अन्य प्रकार की खाद्य सामग्री में भी हम जब मार्केट से प्रोडक्ट खरीद कर लाते हैं तब हम उस प्रोडक्ट के पैकेट पर कुछ काले कलर की लाइन देखते हैं जो कि 10 या उससे अधिक होती हैं। यह रंगीन भी हो सकती हैं। इन लाइन को तकनीकी भाषा में बारकोड कहा जाता है।

वैसे यह बारकोड दिखने में तो बहुत छोटा लगता है और ऐसा लगता है कभी-कभी तो कि इसका क्या इस्तेमाल होता होगा क्योंकि कई लोगों को इसके बारे में पता नहीं होता है परंतु दोस्तों इसका इस्तेमाल बहुत ही महत्वपूर्ण होता है और इसे स्कैन करके किसी उत्पाद से जुड़ी हुई जानकारियां एवं उसकी उचित कीमत की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। कंपनियां बारकोड की सहायता से उत्पादों के बचे स्टॉक की बड़ी ही सरलता से गणना कर लेती है एवं प्रोडक्ट की ट्रैकिंग भी बहुत ही आसानी से की जा सकती है।

दोस्तों यह बारकोड तुम्हें इस संसार में लगभग सभी प्रोडक्ट पर देखने के लिए मिल जाएगा और यह बारकोड प्रोडक्ट की कैटेगरी के अनुसार समान होता है। जैसे कि लक्स साबुन के पैकेट में उपलब्ध बारकोड जो भारत में दिखाई देता है वही बारकोड उस पैकेट का दुनिया के हर अन्य देश में उपलब्ध होता है। इसको पढ़ने के लिए बारकोड स्कैनर का प्रयोग किया जाता है जिसे हम प्राइस स्केनर के नाम से भी जानते हैं।

दोस्तों जब बारकोड की स्टार्टिंग हुई थी तब इस पर काली लाइन के पैटर्न मौजूद थे जिसे केवल ऑप्टिकल स्केनर की सहायता से ही पढ़ा जा सकता था। आजकल आप देख ही रहे हैं कि टेक्नोलॉजी कितनी आगे जा चुकी है अर्थात समय के साथ इसकी आकृति में थोड़ा सा बदलाव आ गया है । अब इसे किसी भी स्मार्टफोन की मदद से भी पढ़ा जा सकता है अर्थात स्कैन करके इसके बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

बारकोड कैसे कार्य करता है ?

दोस्तों अब तक आप इतना समझा चुके हैं कि बारकोड क्या होता है अब हम जानेंगे कि बारकोड कैसे कार्य करता है क्योंकि इसके महत्वपूर्ण कार्य के कारण ही इसका सर्वाधिक प्रयोग किया जाता है। किसी कंपनी में अलग-अलग प्रकार के प्रोडक्ट्स का बिल बनाने के लिए कैश काउंटर में बैठा व्यक्ति प्रोडक्ट को ऑप्टिकल स्कैनिंग की प्रक्रिया से गुजरता है।

यह ऑप्टिकल स्कैनर उसी कंप्यूटर से कनेक्ट होता है जिस कंप्यूटर से हमें खरीदे गए प्रोडक्ट के बिल की प्रति प्राप्त होती है। दोस्तों विधि सामग्री में प्रिंटेड बारकोड के ऊपर स्कैनर के गुजरते ही प्रोडक्ट के बारे में कंप्यूटर पूरी जानकारी देता है एवं इस संपूर्ण प्रक्रिया द्वारा कंप्यूटर को उस सामग्री से जुड़ी जानकारी प्राप्त हो जाती है। कंप्यूटर में बिल के रूप में प्रोडक्ट की जानकारी देता है।

🔍Home Loan कैसे लिया जाता है -2022

बारकोड कितने प्रकार के होते हैं ?

दोस्तों बारकोड मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं।
1. Linear Barcode – दोस्तों लाइनर बारकोड जिसे हम रेखा बारकोड भी कहते हैं इन बारकोड को वन डाइमेंशनल बारकोड के नाम से सर्वाधिक जाना जाता है।1D बारकोड UPC code की तरह ही होते हैं। वन डाइमेंशनल बार कोड का इस्तेमाल सामान्यतः दैनिक जीवन में काम आने वाली प्रोडक्ट्स के पैकेट्स पर किया जाता है।

🔍CVV code क्या होता है ?

2 D barcode

दोस्तों two Dimational को हम क्यू.आर. कोड स्केनर के नाम से भी। यह बारकोड नई टेक्नोलॉजी से बने हैं जिनका इस्तेमाल आपने कई डिजिटल पेमेंट एप्लीकेशन जैसे पेटीएम, फोन पे, गूगल पे आदि में देखा होगा। दोस्तों इस बार कोड का इस्तेमाल सबसे ज्यादा पेमेंट एप्लीकेशन के लिए ही किया जाता है। इसके पीछे बजाय यह है कि इन बारकोड को हम स्मार्टफोन से भी आसानी से स्कैन कर सकते हैं और पेमेंट कर सकते हैं।

🔍फिक्स डिपाजिट ( FD ) क्या है ? 

बारकोड का प्रयोग क्यों किया जाता है?

दोस्तों यदि आप भी जानना चाहते हैं कि बारकोड का प्रयोग क्यों किया जाता है तो इसका बहुत ही साधारण सा जवाब होगा तो दोस्तों इसका एक साधारण सा जवाब यह है कि बार कोड का इस्तेमाल करने के पीछे सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे हमारी खाद्य सामग्री के प्रोडक्ट्स को समय रहते ट्रैक किया जा सकता है और इसकी मांग में मौसम के अनुकूल होने वाले परिवर्तन की भविष्यवाणी भी की जा सकती है।

🔍फिक्स डिपाजिट ( FD ) क्या है ? 

दोस्तों ऐसे अनेकों कारण हैं जिनकी वजह से बारकोड का प्रयोग प्रोडक्ट्स के पैकेट्स पर किया जाता है। इस वजह से भी इनका प्रयोग किया जाता है कि ताकि इनके बारे में बार कोड को स्कैन करके प्रोडक्ट की कीमत एवं उसकी संपूर्ण जानकारी जानी जा सके।

🔍बैंक में ऑनलाइन खाता कैसे खोलें 2022 ?

तो दोस्तों मैं आशा करता हूं कि बारकोड से संबंधित यह जानकर आ आपको अच्छा लगा होगा । दोस्तों इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें । यदि आप इसे संबंधित और कोई प्रश्न हम से पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। दोस्तों इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें । धन्यवाद

Previous articleई कॉमर्स क्या है? जानिए इसके फायदे एवं नुकसान के बारे में?
Next articleगूगल मीट एप क्या है और कैसे यूज करते हैं?
Hello नमस्कार 🙏दोस्तो स्वागत है आपका Jobvips.com वेबसाइट पर दोस्तों मेरा नाम SAUDAN SINGH है, और मैं धौलपुर राजस्थान का रहने वाला हूं। दोस्तों मैंने ग्रेजुएशन के साथ-साथ ब्लॉगिंग का भी कोर्स किया था और इसके अलावा मुझे ब्लॉगिंग के क्षेत्र में 3 साल से भी अधिक समय का अच्छा खासा एक्सपीरियंस है। दोस्तों "jobvips.com" वेबसाइट बनाने का मेरा मेन मकसद यही था कि मैं अपने सभी दोस्तों के साथ अच्छी-अच्छी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से पहुंचा सकूं. दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको ब्लॉगिंग, मेक मनी, टिप्स एंड ट्रिक्स, बैंकिंग, बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग, यूट्यूब और सोशल मीडिया से रिलेटेड आपको टाइम टू टाइम जानकारी प्रोवाइड की जाएगी। दोस्तो यदि आपको इस वेबसाइट का कंटेंट पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 🙏।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here