CVV Code kya hota hai ? Full knowledge CVV Code.

0
12

CVV Code Kya Hota Hai.

दोस्तों क्या आपको भी CVV Code बारे में जानने की आवश्यकता है तो इस जानकारी को एक बार अवश्य अंत तक पढ़ें। यदि आपको भी बचना है धोखाधड़ी से तो एक बार इस आर्टिकल को वे जरूर पढ़ें। जैसा कि हम जानते हैं कैश की जरूरत हमें हर समय पड़ती रहती है जब हम किसी शॉपिंग वेबसाइट से शॉपिंग करते हैं अथवा कोई ऑनलाइन फॉर्म भरते हैं एवं जब हम किसी प्रकार का ऑनलाइन पेमेंट करते हैं और जब हम अपने डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड के डिटेल डालते हैं.

तो वहां हमसे कार्ड का होल्डर नाम एवं कार्ड के नंबर एक्सपायरी डेट और इसके अलावा CVV Code मांगा जाता है तो दोस्तों हम सभी कारण के नंबर एवं होल्डर का नाम आसानी से डाल देते हैं और इसके साथ-साथ एक्सपायरी डेट भी आसानी से डाल देते हैं क्योंकि वह हमारे डेबिट कार्ड अथवा क्रेडिट कार्ड के सामने लिखी हुई होती है पर दिक्कत आती है CVV Code क्योंकि यह भी पूछा जाता है और इसका अधिकतर लोगों को पता नहीं होता है कि यह क्या होता है एटीएम में CVV Code कहां होता है? लोग इसी वजह से थोड़ा सा परेशान हो जाते हैं परंतु दोस्तों यदि आप इस जानकारी को पढ़ लेंगे तो समझ लीजिए आपकी यह परेशानी हमेशा हमेशा के लिए सॉल्व हो जाएगी।

CVV की फुल फॉर्म क्या होती है –

इसके बारे में अधिक जानने से पहले हम इसकी फुल फॉर्म के बारे में जानेंगे, तो दोस्तों बता दूं इसकी फुल फॉर्म होती है – ‘Card Verification Value’ वहीं यदि बात करें इसके हिंदी में अर्थ की तो दोस्तों इसका हिंदी अर्थ होता है “कार्ड सत्यापन निधि कोड” आपको बता दूं इसको एक अन्य नाम से भी जाना जाता है तो वह नाम है CVC यानी card verification code दोस्तों यह एक सिक्योरिटी कोड होता है जो कि आपने ऑनलाइन पेमेंट करते समय देखा होगा अक्सर ऑनलाइन पेमेंट करते समय ही इसका इस्तेमाल किया जाता है।

CVV code क्या है ?

दोस्तों आपने इसे क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड पर देखा का होगा तो तुम्हें बता दें यह इसलिए होता है जिससे ऑनलाइन भुगतान करते वक्त यूजर के कार्ड की इंफॉर्मेशन secure रखी जा जा सके तथा जिस वेबसाइट पर यूजर अपने क्रेडिट कार्ड या फिर डेबिट कार्ड की डिटेल डाल रहे हैं वह वेबसाइट भी यूजर के कार्ड का गलत तरीके से प्रयोग नहीं कर पाएगा तो दोस्तों इसका यही मुख्य काम यह होता है।

दोस्तों तुम्हें पहले से ही सावधान कर दें यदि किसी आदमी को हमारे डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड की संपूर्ण जानकारी हो जाती है जैसे कि हमारे कार्ड के नंबर के बारे में पता चल जाता है, कार्ड होल्डर का नाम पता चल जाता है, एक्सपायरी डेट तथा सीवीवी कोड का पता चल जाता है तो यूं समझ लीजिए कि वह आपके बैंक खाते से आराम से पैसे निकाल सकता है परंतु यदि उसे इनमें से एक जानकारी भी नहीं मिलती है तो वह पैसे निकालने में सफल नहीं हो सकता । जी हां दोस्तों, वह आपके खाते से सिर्फ उसी स्थिति में पैसे निकाल सकता है जब उसे सारी जानकारी प्राप्त हो अन्यथा नहीं।

जैसा कि हम सभी जानते हैं जिस तरह से यदि हमें अपने एटीएम कार्ड से पैसे निकालने होते हैं तो सर्वप्रथम एटीएम मशीन में अपने डेबिट कार्ड को डालते हैं फिर इसके पश्चात हम अपना सिक्योरिटी पर डालते हैं तब जाकर हमारे पैसे एटीएम मशीन से निकलते हैं बिल्कुल इसी तरह CVV कोड होता है । जब भी हमें कोई पेमेंट करनी होती है तो हमें अपने कार्ड की संपूर्ण जानकारी डालनी पड़ती है और पूरी डिटेल डालने के साथ साथ हमें CVV कोड भी डालना पड़ता है। तो यह होता है हमारा सिक्योरिटी पेन। जिसका प्रयोग हम ऑनलाइन पेमेंट करते वक्त करते हैं।

दोस्तों तुम्हें बता दूं जो हमारा एटीएम सिक्योरिटी पिन कोड होता है और जो हमारा CVV कोड होता है तो ये दोनों हमारे खाते को सुरक्षित रखने का कार्य करते हैं। दोस्तों जिस तरह से हम बिना सिक्योरिटी डालें अपने एटीएम कार्ड से पैसे नहीं निकाल सकते बिल्कुल उसी प्रकार सीवीवी कोड के बिना भी हम पैसे नहीं निकाल सकते मेरा कहने का कि हम इसके बिना क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से ऑनलाइन पेमेंट नहीं कर सकते।

Debit card/credit card में सीवीवी कोड कहां पर होता है

दोस्तों कई लोगों को तो यही नहीं पता होता है कि उनके डेबिट कार्ड या फिर क्रेडिट कार्ड में सीवीवी कोड कहां पर होता है तो बता दें यह सीवीवी कोड क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के हमेशा बैक साइड में होता है मेरा कहने का मतलब है उसके जस्ट बेक (पीछे) में होता है।

दोस्तों यदि तुमने गौर किया होगा तो तुमने देखा होगा हमारे डेबिट कार्ड या फिर क्रेडिट कार्ड में एक काले कलर की या फिर सफेद कलर की पट्टी होती है उसी के अंत में यह कोड होता है। दोस्तों क्या आपने कभी दिमाग लगाया है कि यह पीछे क्यों होता है। तो दोस्तों हमें बतादें इसका कारण है कि यह डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड साधारणतः हम जब भी अपने कार्ड को बाहर निकालते हैं या जब हम एटीएम से पैसे निकालते हैं। तो कार्ड का ऊपरी हिस्सा हम हमेशा ऊपर रखते हैं और पीछे का हिस्सा हमेशा नीचे रहता है जिसकी वजह से हमारे कार्ड का पिछला हिस्सा आसपास खड़े लोग भी नहीं देख पाते हैं। एक प्रकार से यह बहुत अच्छी व्यवस्था है।

🔍NFC क्या होता है, और यह कैसे काम करता है और इसके फायदे क्या हैं ?

🔍Paytm Se Paytm se paise Kaise kamaye? 12 सबसे आसान तरीके-

🔍OYO Kya hota Hai ? Complete information 2022

🔍Paytm KYC Center कैसे खोलें और इससे पैसे कैसे कमाएं –

🔍Amazon और Flipkart पर Debit Card EMI से समान कैसे खरीदें 2022 ? 

जैसा कि आपको पता ही होगा कि CVV Code सामान्यतः 3 अंको का होता है परंतु कुछ कंपनियों के Cards में यह Code 4 अंकों का भी होता है। तुम्हें बता दूं हमारे इंडिया में विशेष रुप से, मास्टरकार्ड, रुपए, वीज़ा जैसी कंपनियां ही डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड जारी करती है। यदि इन कंपनियों के सीवीवी कोड की बात की जाए तो इनके सीवीवी कोड में सिर्फ 3 अंक ही होते हैं।

दोस्तों तुम पता नहीं होगा पर मैं तुम्हें बता देता हूं कि यह स्टार्टिंग में 11 अंकों का हुआ करता था लेकिन वक्त के मुताबिक इसको छोटा कर दिया गया और अब लगभग सभी कंपनियां 3 अंकों का ही सीवीवी कोड दिखाती है।

CVV code क्यों आवश्यक होता है ?

दोस्तों जैसा कि हम सब जानते हैं कि आजकल लाखों-करोड़ों लोग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं और पैसों का लेनदेन करते हैं तो इस वजह से साइबरक्राइम भी दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं मेरा कहने का मतलब है कि ऐसे लोग जो दूसरों के बैंक खाते से उनके पैसे निकाल लेते हैं। दोस्तों आजकल धोखाधड़ी इतनी ज्यादा बढ़ चुकी है कि हमें जितनी से जितनी हो सके सिक्योरिटी की आवश्यकता होती है अपने पैसों के लिए भी और अपने खुद के लिए भी। तो फिलहाल हम यहां पर पैसों की सिक्योरिटी के बारे में बात कर रहे हैं तो आपको बता दूं इसका जो मुख्य काम होता है वह आपके डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की जानकारी को सुरक्षित करना होता है।

🔍ई कॉमर्स क्या है? जानिए इसके फायदे एवं नुकसान के बारे में?

🔍Mobile से कैसे पता करें जमीन किसके नाम है?

🔍Facebook Se Paise Kaise Kamaye.

🔍Video Calling के लिए top 5 बेस्ट एंड्रॉयड एप्लीकेशन 2022

इसके पीछे की वजह यह भी है कि आजकल ऑनलाइन पेमेंट करते समय भी खूब धोखाधड़ी हो रही है जिसकी वजह से बैंक अकाउंट साफ हो रहे हैं। तो जब तक हमारे क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की संपूर्ण जानकारी किसी व्यक्ति को नहीं मिल जाती तब तक वह हमारे बैंक अकाउंट से पैसे नहीं निकाल सकता है। दोस्तों इस प्रकार आप समझ चुके हैं CVV code के बारे में संपूर्ण जानकारी।

दोस्तों यह जानकारी आपको कैसी लगी कृपया टिप्पणी करके बताएं। यदि आपको इस जानकारी से संबंधित अन्य जानकारी भी चाहिए तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। दोस्तों इस जानकारी को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर और अपने रिश्तेदारों एवं दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें ताकि बे भी सीवीवी कोड के बारे में अच्छी तरह से जान सके और यह जान सके कि यह कितना आवश्यक है वर्तमान समय में। धन्यवाद!

Previous articleइंस्टाग्राम रील्स को वायरल कैसे करें -टॉप 5 तरीके – 2022
Next articleRealme किस देश की कंपनी है और इसका मालिक कौन है ?
Hello नमस्कार 🙏दोस्तो स्वागत है आपका Jobvips.com वेबसाइट पर दोस्तों मेरा नाम SAUDAN SINGH है, और मैं धौलपुर राजस्थान का रहने वाला हूं। दोस्तों मैंने ग्रेजुएशन के साथ-साथ ब्लॉगिंग का भी कोर्स किया था और इसके अलावा मुझे ब्लॉगिंग के क्षेत्र में 3 साल से भी अधिक समय का अच्छा खासा एक्सपीरियंस है। दोस्तों "jobvips.com" वेबसाइट बनाने का मेरा मेन मकसद यही था कि मैं अपने सभी दोस्तों के साथ अच्छी-अच्छी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से पहुंचा सकूं. दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको ब्लॉगिंग, मेक मनी, टिप्स एंड ट्रिक्स, बैंकिंग, बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग, यूट्यूब और सोशल मीडिया से रिलेटेड आपको टाइम टू टाइम जानकारी प्रोवाइड की जाएगी। दोस्तो यदि आपको इस वेबसाइट का कंटेंट पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 🙏।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here