ई कॉमर्स क्या है? जानिए इसके फायदे एवं नुकसान के बारे में?

0
17

ई कॉमर्स क्या है?

दोस्तों आपने कभी ना कभी तो ई-कॉमर्स का नाम तो सुना ही होगा अगर नहीं सुना है। तो आप इस पोस्ट में शुरू से लेकर आगे तक बनी रहे आपको संपूर्ण जानकारी इसी पोस्ट के माध्यम से मिल जाएगी। साथियों अगर मैं आपको यहां पर साधारण सी भाषा में बताऊं तो इंटरनेट की वर्चुअल दुनिया पर अपनी सर्विस एवं सेवा प्रदान करने की प्रक्रिया ही ई-कॉमर्स कहलाती है। और यह कॉमर्स के माध्यम से आप किस टाइम पर व्यक्ति इतने उच्च स्थान पर पहुंच गए हैं। कोई जानवर उनके जैसे पहुंच नहीं पाता मनुष्य शुरू से ही अपने पास की वस्तुओं को बदलने की कोशिश करता रहा है। वस्तुओं के फायदे एवं नुकसान के जरिए ही उपयोग में लाया गया है।

साथियों अगर आज किस टाइम पर मोबाइल में बदलाव नहीं होता तो आप लोगों स्मार्टफोन को यूज नहीं कर सकते थे। और बदलाव ने ही यह संभव बनाया है। कि आप मेरी इस पोस्ट को पढ़ रहे हो बिल्कुल उसी प्रकार बाजार के उद्योग क्षेत्रों में भी बदलाव हो गए हैं। और इनमें से सबसे महत्वपूर्ण बदलाव ई-कॉमर्स से दुनिया का परिचय करवाना भी हो गया। ई-कॉमर्स ने दुनिया में क्रांति की तरह अपना कदम बढ़ाया और उद्योग के क्षेत्र में पूरी तरह से सफलता प्राप्त की है। लेकिन साथियों अगर आप लोग अभी तक ई-कॉमर्स से वंचित है। और इसके बारे में आपको कुछ भी जानकारी नहीं है। तो इस पोस्ट में आगे तक बनी रहे आपको संपूर्ण जानकारी मिल जाएगी।

ई-कॉमर्स क्या है फुल जानकारी?

दोस्तों इन सेवाओं की अंतर्गत मार्केटिंग करना,बिल का ऑनलाइन भुगतान करना, इंटरनेट पर सामान को बेचना एवं खरीदना, सामानों को सही पते पर पहुंचाना एवं ऑनलाइन बैंकिंग करना आदि आते हैं। दोस्तों आप लोग उदाहरण के तौर पर जो सबसे लोकप्रिय कंपनियां हैं। जैसे पेटीएम एवं फिलिपकार्ड को ही रख कर देख लो आपने देखा हुआ कई शहर होते हैं। जो कि इनके द्वारा अपने प्रोडक्ट को बेचते हैं। वहीं दूसरी तरफ कस्टमर अपनी जरूरत के हिसाब से सामान को आसानी से खरीद लेता है। कई कंपनियां अब सामान के साथ-साथ मोबाइल रिचार्ज एवं d2h रिचार्ज करवाने संभव हो गए हैं।

🔍 डोमेन नेम क्या है ?

आपकी जानकारी के लिए मैं आपको यहां पर बता दूं कि इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स को सन 1960 मैं शुरू किया गया था। और दुनिया की कई कंपनियों ने इंटरनेट के फीचर इलेक्ट्रॉनिक डाटा इंटरचेंज की सहायता से बिजनेस के डाक्यूमेंट्स को दूसरी कंपनियों के लोगों के साथ भी शेयर करना आरंभ कर दिया था।बाद में अमेजॉन एवं इबे जैसी कंपनियों को इंटरनेट के चित्र में उतारा गया इसके बाद इस क्षेत्र में क्रांति की लहर फिर से लहरा गई।

ई-कॉमर्स कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों ई-कॉमर्स को कई कैटेगरी में विभाजित किया जा सकता है। जो कि निम्नलिखित हैं। उसके बारे में हम आपको नीचे विस्तार पूर्वक रूप से बताने जा रहे हैं।

(1) बिजनेस टू बिजनेस

इसमें एक बिजनेस या फिर कंपनी कस्टमर के बजाय किसी अन्य बिजनेस या फिर कंपनी सेवा को हासिल करने के लिए संपर्क भी करती है। यदि मैं आपको उदाहरण के तौर पर रखकर बताऊं तो आप इस वेबसाइट को ही ले सकते हो इसमें एक कंपनी या फिर उद्योगपति दूसरे ऑनलाइन डायरेक्टरी वेबसाइट में संपर्क करती है। जिसकी सहायता से वह अपना नाम उस डायरेक्टरी में दर्ज करा सकते हैं। इससे दोनों को यह फायदा मिलता है। की डायरेक्टरी वेबसाइट का ऑनर एवं कस्टमर मिल जाता है।एवं दूसरा उद्योगपति और वेबसाइट के जरिए अपनी सेवा को प्रचार भी कर सकेगा एवं अधिक से अधिक कस्टमर को अपनी ओर भी आकर्षित कर सकता है।

(2) बिजनेस टू कंस्यूमर

साथियों इस प्रकार के उद्देश्य में उद्योगपति की कोई सर्विस या पर प्रोडक्ट हो इंटरनेट का सहारा लेकर कस्टमर को बेचता है।और ऐसा बिजनेस आज किस टाइम पर काफी अदा लोकप्रिय हो रहा है। कई ऑनलाइन स्टोर भी हैं। जैसे कि अमेजॉन फ्लिपकार्ट जो कि ऑनलाइन ही अपने किसी प्रोडक्ट या सामान को कस्टमर को बेचते हैं। इस प्रकार वह कस्टमर से अच्छा पैसा ले लेते हैं।

(3) कंस्यूमर टू कंस्यूमर

इस प्रकार के बिजनेस में एक कस्टमर अपने सामान या फिर किसी सर्विस को इंटरनेट के जरिए दूसरे कस्टमर को बेचता है।और वह सामान ज्यादातर बिकता है। तो वह सामान सेकंड हैंड एवं पुराना होता है। आप चाहो तो OLX और Quikr का उदाहरण ले सकते हो इन्हें समझने के लिए जाने की वेबसाइट पर कस्टमर फ्री सामान या फिर किसी प्रोडक्ट को कम दाम में बेच देता है।

(4) कंस्यूमर टू बिजनेस

दोस्तों इस बिजनेस को समझाने के लिए हम आपको यहां पर एक उदाहरण देने जा रहे हैं। जैसे आपने upwork.com नाम तो सुन रखा हुआ अगर फिर भी आपने नहीं चलाया तो मैं आपको यहां पर बता देना चाहता हूं। यह एक ऐसी वेबसाइट है जिस पर आप अपने किसी काम को करवाने के लिए जैसे के पढ़ाई एवं ऑफिस का काम हो उसके लिए वर्कर को हायर करते हो इसके बाद वर्कर अपनी मेहनत और टाइम के हिसाब से पैसा भी लेते हैं।

ई-कॉमर्स के क्या-क्या फायदे हैं ?

दोस्तों यदि हम यह कॉमर्स के फायदों की बात करें तो इसके हमें निम्नलिखित फायदे देखने को मिलते हैं। जो कि निम्न प्रकार से होते हैं। और वह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित भी होते हैं। अगर आप उनके बारे में जानना चाहते हैं। तो पोस्ट को आगे तक पढ़े।

• दोस्तों आप किसी भी बड़े सामान को घर बैठकर ही ऑनलाइन मंगवा सकते हो जैसे कि फ्रीज, टीवी, AC और चाहे कितना भी बड़ा सामान हो।

• दोस्तों जो व्यक्ति पहले बाजार नहीं जाते थे। वह अपनी जरूरतों को अब घर बैठकर भी पूरा कर लेते हैं इसलिए अब कुछ वेबसाइट तो ऐसी हैं। जो कि सब्जी की भी डिलीवरी करवाते हैं।

• और जिन लोगों को बिजनेस में दिलचस्पी है। वह शुरुआत आसानी से कर सकते हैं। और ऑनलाइन स्टोर खोलना फिजिकल स्टोर की अपेक्षा बहुत ही आसान मनाया जाता है।क्योंकि इसे बहुत ही अच्छी तरीके से संभाल सकते हैं। क्योंकि इसके अंदर फंड लगाने की बहुत कम जरूरत पड़ती है। और पार्ट टाइम जॉब एवं फुल टाइम जॉब के लिए एक अच्छा ऑप्शन माना जाता है।

• ई-कॉमर्स का एक फायदा यह भी होता है। की आपस में किसी भी सर्विस का फायदा लेने पर उस पेमेंट आसानी से कर पाओगे एवं पेमेंट करने की बहुत विकल्प होते हैं। आप चाहो तो बैंक से भी पैसे कटवा सकते हो।

• अगर आपने कोई प्रोडक्ट ऑनलाइन मंगाया है। तो आप उसकी पेमेंट डिलीवरी के समय भी कर सकते हो। और कई वेबसाइट तो ऐसी होती हैं। जो कि ईएमआई पर भी पेमेंट करने की सुविधा दे देती हैं।

• यदि आप किसी प्रोडक्ट को ऑनलाइन खरीदोगे। तो फिर आप लोग उसकी कीमत एवं स्पेसिफिकेशन दूसरी वेबसाइट या फिर सैलरी कंपेयर कर सकते हो। इसके अंदर आपको प्रोडक्ट उचित पैसा मिल जाता है। एवं इसमें निकले हुए कूपन से आप छूट भी ले सकते हो।

• अगर डिलीवरी होने वाले प्रोडक्ट में कोई डिफेक्ट है। या फिर वह आपको पसंद नहीं आ रहा है। तो फिर आप उसे रिटर्न यहां पर रिप्लेस भी आसानी से कर सकते हो। इसके लिए आप वेबसाइट में अंदर रिटर्न पर क्लिक करके उसे वापस कर सकते हैं। यानी है उसे रिटर्न कर सकते हैं।

जानिए ई-कॉमर्स के नुकसान के बारे में

साथियों अपने ई-कॉमर्स के फायदों के बारे में तो जान लिया अब इसके नुकसान ओं के बारे में भी हम आपको बता देते हैं।मगर उससे पहले हम आपको सूचित करवा दें। ई कॉमर्स के फायदे की तुलना में इसके नुकसान बहुत ही कम होते हैं। चलिए हम इसके नुकसान के बारे में विस्तार पूर्वक समझ लेते हैं।

🔍 स्नैपचैट क्या है और इससेपैसे कैसे कमाए 2022?

• दोस्तों कभी कभी ऑनलाइन मंगाए हुए सामान में कोई खराबी या फिर डिफेक्ट आ जाता है मान लो अगर आपने बाजार से कपड़े खरीदे तो फिर आप उन्हें छू कर भी चेक कर सकते हो और इसी के साथ ट्रायल रूम में जाकर उन्हें पहनकर भी अच्छे से चेक कर सकते हो लेकिन ऑनलाइन मंगवाए हुए सामान में ऐसा नहीं होता है क्योंकि अगर आप किसी खराब प्रोडक्ट को रिटर्न या फिर रिप्लेस भी करोगे तो इसमें काफी ज्यादा टाइम लग जाता है।

🔍 डोमेन अथॉरिटी क्या है ?

• कभी-कभी प्रोडक्ट की शिपमेंट मैं ज्यादा समय लग जाने पर प्रोडक्ट समय से नहीं मिल पाता है। एवं यही ई-कॉमर्स की सबसे बड़ी खामी मानी जाती है। शादी के लिए मंगवाई हुए कपड़े शादी के बाद मिलते हैं। इससे कस्टमर को बहुत परेशानी जल्दी पड़ती है। तो यह इसका एक नुकसान बड़ा होता है।

🔍 क्रिप्टो करेंसी क्या है और कैसे काम करती है?

• जब आप कोई ऑनलाइन सामान खरीदते हो तो उसके लिए आपको अपनी पर्सनल डिटेल्स जैसे के क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स और अपना पर्सनल मोबाइल नंबर एवं इसी के साथ-साथ एड्रेस भी देना पड़ता है। और यह जानकारी अगर किसी गलत व्यक्ति के हाथ में पड़ जाती है। तो आपको प्रॉब्लम हो जाती है। मैं आपको यहां पर कहना चाहूंगा कि कभी भी शॉपिंग करें तू भरोसेमंद वेबसाइट सही करनी चाहिए।

आज आपने क्या सीखा ?

साथियों आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको ई-कॉमर्स के बारे में बताया है। इसी के साथ हमने आपको ई-कॉमर्स के फायदे एवं नुकसान के बारे में भी बता दिया है।तो हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपके लिए यूज़फुल साबित रही होगी। आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो उसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें ऐसे ही इंटरेस्टिंग और अमेजिंग पोस्ट के लिए हमारे साथ जुड़े रहें पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Previous articleसोशल मीडिया मार्केटिंग क्या है? जानिए संपूर्ण जानकारी।
Next articleBarcode क्या होता है और कैसे काम करता है?
Hello नमस्कार 🙏दोस्तो स्वागत है आपका Jobvips.com वेबसाइट पर दोस्तों मेरा नाम SAUDAN SINGH है, और मैं धौलपुर राजस्थान का रहने वाला हूं। दोस्तों मैंने ग्रेजुएशन के साथ-साथ ब्लॉगिंग का भी कोर्स किया था और इसके अलावा मुझे ब्लॉगिंग के क्षेत्र में 3 साल से भी अधिक समय का अच्छा खासा एक्सपीरियंस है। दोस्तों "jobvips.com" वेबसाइट बनाने का मेरा मेन मकसद यही था कि मैं अपने सभी दोस्तों के साथ अच्छी-अच्छी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से पहुंचा सकूं. दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको ब्लॉगिंग, मेक मनी, टिप्स एंड ट्रिक्स, बैंकिंग, बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग, यूट्यूब और सोशल मीडिया से रिलेटेड आपको टाइम टू टाइम जानकारी प्रोवाइड की जाएगी। दोस्तो यदि आपको इस वेबसाइट का कंटेंट पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 🙏।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here