Share Market Me Invest Kaise Karen

0
19

शेयर बाजार में इन्वेस्ट कैसे करें ?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका फिर से एक और शानदार आर्टिकल में दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में शेयर मार्केटिंग (Share Market) के बारे में बात करने वाले हैं । शेयर मार्केटिंग में हर कोई अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकता है । लेकिन stock market में एक successful investor बनाने और पैसा कमाने के लिए शेयर मार्केट की जानकारी होना बहुत ही जरूरी होता है ।

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अक्सर लोग दूसरे लोगों की राय लेना पसंद करते हैं । इसी वजह से अधिकतर लोग शेयर बाजार में अपने पैसे को गवा बैठते हैं । अगर आप एक सक्सेसफुल निवेशक बनकर शेयर बाजार से पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले शेयर बाजार के बारे में सीखना जरूरी है । शेयर बाजार में निवेश करने के लिए आपके पास किसी degree का होना जरूरी नहीं है ।

तो चलिए शुरू करते हैं और सीखते हैं की मार्केट में Investment कैसे करें (share market mein Investment kaise karen)

Share Market में निवेश कैसे करें (Share Market Me Invest Kaise Karen)

Share Market में निवेश किसी ब्रोकर के माध्यम से ही किया जाता है । आप डिरेक्टली Share Market किसी share को खरीद या बेच नहीं सकते है । आज के टाइम पर बहुत से ब्रोकर मौजूद है । अगर आप सोच रहे हैं कि हम शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले किसी ब्रोकिंग फर्म से संपर्क करना होगा।

वर्तमान में शेयर बाजार में निवेश करने के लिए बहुत ही आसान हो गया है । क्योंकि आज के टाइम पर सभी ब्रोकिंग फॉर्म्स के mobile application और website उपलब्ध हैं। आप अपने मनपसंद ब्रोकिंग फर्म के एप्लीकेशन को अपने फोन में डाउनलोड कीजिए और शेयर बाजार में निवेश करना शुरू कर दीजिए ।

Share market में निवेश करने के लिए क्या चाहिये?

आपके पास शेयर बाजार में निवेश करने के लिए एक डीमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए । आपको बता दे कि आप अपने ट्रेडिंग अकाउंट से ट्रेडिंग करते हैं यानी कि आप शेयर को खरीदते और बेचते हैं। और आपके डीमैट अकाउंट में आपके द्वारा जो शेयर खरीदे जाते हैं उन्हें रखा जाता है ।

डीमैट अकाउंट (Demat Account) क्या होता है

Demat Account का फुल फॉर्म De-materialized Account होता है । आपके द्वारा खरीदे गए शेयर बाजार से शेयर को डीमैट अकाउंट में electronic रूप में रखा जाता है । Demat Account से पहले हर एक शेयर पहले फिजिकल रूप से रखा जाता था यानी कि हर एक शेयर के पेपर होते थे ।

Demat Account में शेयर के सरकारी सिक्युरिटीज, म्यूचुयल फंड और बांड भी रखी जा सकती है। डीमैट अकाउंट में शेयर को हमेशा SEBI के दिशा निर्देश पर खरीदा और बेचा जा सकता है । Demat Account एक तरह का भंडार होता है जहाँ आप अपने stock को De-materialized रूप में रख सकते है ।

ट्रेडिंग अकॉउंट (Trading Account) क्या होता है

शेयर को खरीदने और बेचने के लिए Trading Account की जरूरत होती है । मतलब आप Trading Account शेयर बाजार में Trading करते है। जब आप किसी ब्रोकिंग फर्म के द्वारा ट्रेडिंग अकाउंट खोलते है तब आपको उस ब्रोकिंग फर्म द्वारा एक user ID और password दिया जाता है । उसके बाद आप उस ब्रोकर के website या mobile application से login करके share market में शेयर खरीद और बेच सकते है।

Trading Account डीमैट खाते में मध्यस्था का work करता है । मैं आपको एक उदाहरण देकर समझाता हूं मान लीजिए आप 20 शेयर खरीदना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने saving account से पैसा Trading Account में transfer करना होता है। फिर इसे Trading Account में फंड ऐड करना बोला जाता है । उसके बाद आप उस पैसे से share की trading कर सकते है ।

कंपनी को अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए वित्तीय मदद की जरूरत होती है । कम्पनी को जीतने पैसे की मदद चाहिए होती है । Company द्वारा उतने पैसे के फिर शेयर जारी किये जाते है । कंपनी दो तरीकों से पैसे लेती है । पहला तरीका है Angel investors और दूसरा तरीका है Venture investors। जब आप शेयर खरीद लेते हैं तो आपको कुछ अधिकार मिल जाते हैं । जैसे कि आप लाभ प्राप्त कर पाते है जिसे अंश स्वामित्व अधिकार भी कहा जाता है।

Share market में निवेश करने के लिए जरूरी document क्या है?

पैन कार्ड (PAN Card)

दोस्तों आप सब को पता है कि वित्तीय लेनदेन वाला कोई भी कार्य हो इसके लिए पैन कार्ड का होना बहुत जरूरी है । अगर आप स्टॉक मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए पैन कार्ड की आवश्यकता होती है । इसे भारतीय आयकर विभाग द्वारा जारी किया गया है । इसमें 10 नंबर होते हैं । इसे आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं।

केवाईसी (KYC Documents)

केवाईसी का वित्तीय क्षेत्र में प्रयोग किया जाता है । इसका प्रयोग इसलिए करते हैं कि वित्तीय संस्था Customer उसके पति की पहचान को verify कर पाए ।

Share market में ब्रोकर का चयन कैसे करें?

शेयर मार्केट में आप बिना ब्रोकर के किसी भी stock एक्सचेंज से निवेश नहीं कर सकते हैं । BSE (Bombay Stock Exchange) और NSE के शेयर में निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक अच्छे ब्रोकर की जरूरत होगी ।

यह एक बिल्कुल एजेंसी की तरह होती है । जैसे शेरखान, एंजल ब्रोकिंग, इण्डिया बुल्स या आईसीआई इत्यादि । जब आपको ब्रोकरेज फॉर्म की जानकारी होगी तभी आप यहां पर ब्रोकर का चयन कर पाएंगे ।

ब्रोकिंग फर्म क्या होते है ? (Broking firm Kya Hote hai )

शेयर को खरीदने या बेचने का प्लेटफॉर्म ब्रोकिंग फर्म ही दिलाते हैं। मार्केट में आपको हर तरह के ब्रोकरेज फर्म मिल जाएंगे । और हर एक के अलग-अलग नियम होते हैं । और इन नियमों के आधार पर ही अलग-अलग तरह के शुल्क भी लिए जाते हैं । और यह शुल्क 0.1 से 0.5 प्रतिशत तक हो सकते है ।

ब्रोकर फॉर्म दो तरह के होते हैं । पहला फुल टाइम ब्रोकर होता है जो telephonic service के साथ अन्य सुविधा भी उपलब्ध कराता है । यह आपको शेयर बाजार की हर तरह की जानकारी देते हैं । लेकिन ये 0.1 % से 0.10 % तक चार्ज लेते है ।

दूसरा डिस्काउंटिंग सर्विस ब्रोकर होते हैं । इसमें सिर्फ ब्रोकर ट्रेडिंग का ही काम करते है । और इसके अलावा वे किसी भी प्रकार की आपको जानकारी नहीं देते है। कुछ broker flat rate पर काम करते है । हर एक ब्रोकर को उसकी बुद्धिमानी और परख देखकर ही चुना जाता है ।

इन्वेस्टमेंट करने के दो प्रमुख तरीके (Investment ka Tarika in Hindi)

1. Intraday Trading
2. Delivery Base Trading

1. Intraday Trading

निवेश करने का पहला तरीका Intraday Trading होता है इस ट्रेडिंग में एक दिन में ही शेयर खरीदे जाते है । और आपको यह शेयर्स उसी दिन ही बेचने होते हैं । अगर आप इनको नहीं बेच पाते हैं। तो मार्केट के बंद होने तक उसी रेट में अपने आप बेच दिए जाते हैं ।

2. Delivery Base Trading

निवेश करने का दूसरा तरीका Delivery Base ट्रेडिंग होता है । आप यहां से शेयर खरीदने के बाद उन्हें अपनी मर्जी के हिसाब से लंबे समय तक रोक ( होल्ड) सकते हैं ।
आप इन शेयर को कई महीनों या सालों के बाद भी बेच सकते है।

Limit Order

आप अपने शेयर खरीदते समय अपने शेयर का रेट तय कर सकते है । अपने शेयर का रेट तय करने के बाद आप Limit Order करते है । जैसे ही आपके शेयर का रेट आता है तो आपका शेयर Buy हो जाएगा।

Example

एक व्यापारी एक company के 100 शेयर 150 रूपये की दर से buy करना चाहता है। तो वह खरीदने का order 150 में लगायेगा। order तभी निष्पादित होगा जब share का दाम 150 या इससे कम दर पर हो जायेगा

Market Order

यह एक तरह का बाजारी Order है । इसमें वर्तमान मूल्य के आधार पर ही खरीदने या बेचने के निर्देश दिए जाते हैं ।
Market Order को software में एक button द्वारा संचालित किया जाता है इसमें किसी भी प्रकार का भाव मोल नहीं किया था

Example

जब broker को company के 100 शेयर buy करने के निर्देश दिए जाते है । तो उस order को बाजार rate के आधार पर ही लिया जाता है । Broker को share market rate पर ही buy करने होंगे ।

Share खरीदना और बेचना (Share Buy and Sale Hindi)

शेयर को खरीदना और बेचना इस टॉपिक को लेकर आपके मन में कई तरह के सवाल आ रहे हैं। जब आप ब्रोकर का चयन कर लेते हैं तो आपको उनसे मिलते रहना होगा और उनसे स्टॉक मार्केट की सारी जानकारी लेते रहना होगा। वैसे आजकल मोबाइल में ही सारी जानकारियां मिल जाती है।

आप जिस शेयर को बेचना चाहते हैं वह आपके डीमैट खाते में होना चाहिए। जैसे ही आप शेयर को डीमैट खाते से बेचो गे तो आपके डीमैट खाते से शेर की संख्या कम हो जाएगी। जो शेयर तीसरे दिन बेचा गया था उसका मूल्य ब्रोकरेज दर घटाकर सीधे आपके अकाउंट में आ जाएगा ।

दोस्तों शेयर खरीदते वक्त आपको हमेशा दो बातों का ध्यान रखना चाहिए (Market Rate) और (Limited Rate) इस ब्लॉग के माध्यम से हमने आपको Limit Order और Market Order के बारे में बताया गया है। वैसे देखा जाए तो इन शेयरों में रिस्क कम होता है जब आपको अनुभव हो जाएगा तब आप इन रेट पर शेयर खरीद सकते हैं।

Share Market मे investing platform क्या हैं?

वर्तमान में शेयर मार्केटिंग में निवेश करना बहुत आसान हो गया है । मार्केट में ऐसे बहुत सारे एप्लीकेशन आ चुके हैं जिनकी सहायता से आप बड़ी आसानी से demat और trading account ओपन कर सकते हैं । हम आपको कुछ मोबाइल एप्लीकेशन के बारे में बता देते है।

• Motilal Oswal Mobile Treading App
• IIFL Markets
• 5 Paisa
• Upstox
•Kotak Stock Trader App
• Zerodha
• Share Khan Trading Ap

Share Market में निवेश करते वक्त ध्यान रखने योग्य बातें?

शेयर मार्केट में निवेश करते वक्त आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना जरूरी है ।

जब आप स्टॉक ब्रोकर द्वारा शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपके ऊपर अलग-अलग चार्जेज लगाए जाते हैं इसलिए आपको स्टॉक मार्केट में चार्जेज के बारे में पूरी जानकारी होना जरूरी है। आप शेयर मार्केट में होने वाली रिस्क के बारे में भली-भांति जानते होंगे । इसलिए आपको कंपनी के वर्तमान और भविष्य के रिपोर्ट देखकर ही निवेश करना चाहिए ।

• निष्कर्ष

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको शेयर मार्केट से रिलेटेड सारी जानकारी मिल गई होगी । हमें इस पोस्ट में देखा कि शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें. दोस्तों अगर आपको कोई सवाल है आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपको उसका जवाब जरूर देंगे।

धन्यवाद

Previous articleBhim App ऐप क्या है? और इसे Use कैसे करते हैं ?
Next articleBlog किस टॉपिक पर बनाए ? 2022
Hello नमस्कार 🙏दोस्तो स्वागत है आपका Jobvips.com वेबसाइट पर दोस्तों मेरा नाम SAUDAN SINGH है, और मैं धौलपुर राजस्थान का रहने वाला हूं। दोस्तों मैंने ग्रेजुएशन के साथ-साथ ब्लॉगिंग का भी कोर्स किया था और इसके अलावा मुझे ब्लॉगिंग के क्षेत्र में 3 साल से भी अधिक समय का अच्छा खासा एक्सपीरियंस है। दोस्तों "jobvips.com" वेबसाइट बनाने का मेरा मेन मकसद यही था कि मैं अपने सभी दोस्तों के साथ अच्छी-अच्छी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से पहुंचा सकूं. दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको ब्लॉगिंग, मेक मनी, टिप्स एंड ट्रिक्स, बैंकिंग, बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग, यूट्यूब और सोशल मीडिया से रिलेटेड आपको टाइम टू टाइम जानकारी प्रोवाइड की जाएगी। दोस्तो यदि आपको इस वेबसाइट का कंटेंट पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 🙏।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here